Sunday, 11 March 2012

296_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

    जिनके आगे प्रिय-अप्रिय, अनुकूल-प्रतिकूल, सुख-दुःख और भूत-भविष्य एक समान हैं ऐसे ज्ञानी, आत्मवेत्ता महापुरूष ही सच्चे धनवान हैं |
 Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...