Tuesday, 24 April 2012

409_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

     आप सदैव मुक्त हैं, ऐसा विश्वास दृढ़ करो तो आप विश्व के उद्धारक हो जाते हो | आप यदि वेदान्त के स्वर के साथ स्वर मिलाकर निश्चय करो : 'आप कभी शरीर थे | आप नित्य, शुद्ध, बुद्ध आत्मा हो...' तो अखिल ब्रह्माण्ड के मोक्षदाता हो जाते हो
 Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...