Saturday, 21 April 2012

394_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

भला-बुरा वही देखता है
जिसके अन्दर भला-बुरा
है । दूसरों के शरीरों को
वही देखता है जो खुद
को शरीर मानता है

Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...