Saturday, 21 April 2012

375_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

सेवा-प्रेम-त्याग ही मनुष्य के विकास का मूल मंत्र है ।
अगर यह मंत्र आपको जँच जाये तो सभी के प्रति
सदभाव रखो और शरीर से किसी-न-किसी व्यक्ति को
बिना किसी मतलब के सहयोग देते रहो

Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...