Friday, 27 April 2012

426_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

सफलता का रहस्य है आत्म-श्रद्धा, आत्म-प्रीति, अन्तर्मुखता, प्राणीमात्र के लिए प्रेम, परहित-परायणता।
परहित बस जिनके मन मांही
तिनको जग दुर्लभ कछु नाहीं ।।
Pujya Asharam Ji Bapu

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...