Sunday, 19 February 2012

236_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

शरीर अन्दर के आत्मा का वस्त्र है | वस्त्र को उसके पहनने वाले से अधिक प्यार मत करो |
Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...