Thursday, 5 January 2012

107_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

जैसे स्वप्न की चीजों को साथ में लेकर आदमी जाग नहीं सकता, ऐसे ही प्रतीति को सच्चा मानकर परमात्म-तत्त्व में जाग नहीं सकता। शिवजी पार्वती से कहते हैं-
उमा कहों मैं अनुभव अपना ।
सत्य हरि भजन जगत सब सपना ।।
 Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...