Wednesday, 24 October 2012

879_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

परमात्मा परम आनंद और परम शान्ति के भंडार हैं | उनके साथ तुम्हारा सम्बन्ध जितना ही बढ़ता जाएगा उतने ही आनंद और शान्ति भी तुम्हारे अंदर बढ़ते जायेंगे | तुम जहाँ भी जाओगे, आनंद और शान्ति तुम्हारे साथ जायेंगे  | जगत के प्राणियों को भी उससे शान्ति की प्राप्ति होगी  |
-Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...