Saturday, 20 October 2012

869_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

'हम राम के थे, राम के हैं और राम के ही रहेंगे। ॐ राम..... ॐ राम.... ॐ राम....।'
कोई भी चिन्ता किये बिना जो प्रभु में मस्त रहता है वह सहनशील है, वह साधुबुद्धि है।

-Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...