Monday, 7 November 2011

जैसे बीज की साधना
वृक्ष होने के सिवाय और
कुछ नहीं,
उसी प्रकार जीव की साधना
आत्मस्वरूप को जानने के सिवाय
और कुछ नहीं।

                                                             Pujya asaram ji bapu :-

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...