Saturday, 5 November 2011

शक्कर खिला शक्कर मिले, टक्कर खिला टक्कर मिले।
नेका का बदला नेक है, बदों को बदी देख ले।।
इसे तू दुनियाँ मत समझ मियाँ ! यह संसार की मझदार है।
                                              औरों का बेड़ा पार कर, तो तेरा बेड़ा पार है।।
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...