Tuesday, 1 May 2012

436_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

  किसी भी तरह समय बिताने के लिये मज़दूर की भांति काम मत करो | आनंद के लिये, उपयोगी कसरत समझकर, सुख, क्रीड़ा या मनोरंजक खेल समझकर एक कुलीन राजकुमार की भांति काम करो | दबे हुए, कुचले हुए दिल से कभी कोई काम हाथ में मत लो |
 Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...