Saturday, 12 May 2012

496_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

हजारों बम गिरे फिर भी तेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता। तू ऐसा अजर-अमर आत्मा है। तू वही है।
नैनं छिन्दन्ति शास्त्राणि नैनं दहति पावकः
न चैनं क्लेदयन्त्यापो न शोषयति मारुतः ।।

'इस आत्मा को शस्त्र काट नहीं सकते, आग जला नहीं सकती, जल भिगो नहीं सकता और वायु सुखा नहीं सकती।' (भगवदगीताः 2-23)
Pujya Asharam Ji Bapu 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...