Friday, 11 May 2012

486_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

सर्वत्र मंगलमय दृष्टि रखने से मन अपने-आप शांत होने लगेगा |जब तक हम समझते रहेंगे कि सृष्टि बिगड़ी हुई है तब तक मन सशंक दृष्टि से चारों ओर दौड़ता रहेगा |
Pujya Asharam Ji Bapu 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...