Friday, 25 May 2012

553_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

कभी किसी के दोष या अपराध पर
दृष्टि न डालें क्योंकि वास्तव में सब
रूपों में हमारा प्यारा ईष्टदेव ही क्रीड़ा
कर रहा है ....

Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...