Friday, 18 May 2012

528_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

पृथ्वी पर के स्वप्न तुल्य संबंधों का
स्मरण  करके तुम नीचे  न गिरो
अपितु आत्मा-परमात्मा के संबंध
को याद करते हुए अपना ऐहिक
जीवन मंगलमय बनाओ ।

Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...