Thursday, 17 May 2012

524_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU


संसार का तट वैराग्य है। विवेक पैदा होते ही वैराग्य का जन्म होता है। जिसके जीवन में वैराग्यरूपी धन आ गया है वह धन्य है।

Pujya Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...