Friday, 28 September 2012

805_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

सबके साथ सहानुभूति और नम्रता से युक्त मित्रता का बर्ताव करो | संसार में सबसे ज़्यादा मनुष्य ऐसे ही मिलेंगे जिनकी कठिनाईयाँ और कष्ट तुम्हारी कल्पना से कहीं अधिक है | तुम इस बात को समझ लो और किसीके भी साथ अनादर और द्वेष का व्यवहार न करके विशेष प्रेम का व्यवहार करो
 -Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...