Sunday, 2 September 2012

761_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

ऐ दुनियाँदारों ! ऐ बोतल की शराब के प्यारों ! बोतल की शराब तुम्हें मुबारक है। हमने तो अब फकीरों की प्यालियाँ पी ली हैं..... हमने अब रामनाम की शराब पी ली है।
दूर हटो दुनियाँ की झंझटों ! दूर हटो रिश्तेनातों की जालों ! हमने राम से रिश्ता अपना बना लिया है।
-Pujya asharam ji bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...