Wednesday, 10 August 2016

1477_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

सच्चे धनवान

जिनके आगे प्रिय-अप्रिय, अनुकूल-प्रतिकूल, सुख-दुःख और भूत-भविष्य एक समान हैं ऐसे ज्ञानी, आत्मवेत्ता महापुरूष ही सच्चे धनवान हैं |

 -Pujya Sant Shri Asharam Ji Bapu


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...