Wednesday, 27 June 2012

636_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

सदगुरु जिसे मिल जाय सो ही धन्य है जन मन्य है।
सुरसिद्ध उसको पूजते ता सम न कोऊ अन्य है॥
अधिकारी हो गुरुदेव से उपदेश जो नर पाय है।
                                  भोला तरे संसार से नहीं गर्भ में फिर आय है॥
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...