Sunday, 9 August 2015

1305_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

>>> सहानुभूति व नम्रता <<<
तुमसे कोई बुरा बर्ताव करे तो उसके साथ भी अच्छा बर्ताव करो और ऐसा करके अभिमान न करो । दूसरों की भलाई में तुम जितना ही अपने अहंकार को और स्वार्थ को भूलोगे उतना ही तुम्हारा वास्तविक हित अधिक होगा ।
-Pujya Sant Shri Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...