Wednesday, 3 September 2014

1239_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU



करोड़ों दुःख रूपी कीटाणु तुम्हारे आस-पास क्यों न घूमते रहें ,पर कुछ चिंता न करो । जब तक तुम्हारा मन कमजोर नही होता । तब तक उनकी हिम्मत नही कि वे तुम पर हमला करे । यह एक बड़ा सत्य है कि बल ही जीवन है और दुर्बलता ही मरण ।
-Pujya Sant Shri Asharam Ji Bapu
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...