Saturday, 16 April 2016

1421_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

ये चिराग ऐसे है जो आँधियों में जलते है ।
 तुम बुझा न पाओगे कह दो इन हवाओं से ।।..
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...