Tuesday, 28 August 2012

754_THOUGHTS AND QUOTES GIVEN BY PUJYA ASHARAM JI BAPU

वे और थे मुसाफिर जो पथ से लौट आये।। 
मरने के सब इरादे जीने के काम आये।
न रुकेंगें और न झुकेंगें
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...