Tuesday, 28 March 2017

1587-Pujya Asaram Bapu Ji | परमात्म तत्व से आत्मा का एकत्व

 परमात्म तत्व से आत्मा का एकत्व | Bapu Ji

यदि विवेकपूर्वक अपनेको देह न स्वीकार किया जाय, तो मन स्वभावसे ही चिन्तन रहित होकर उस
चेतन में विलीन हो जाता है, जिससे हमारी जातीय तथा स्वरूप की एकता है।
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...